Menu
Your Cart

Vivah Aah Ya Wah - Matrimony: Lament Or Joy - Hindi

-20 %

Vivah Aah Ya Wah - Matrimony: Lament Or Joy - Hindi

Description

विवाह: आह या वाह

मतभेद, मनभेद, अलगाव और तलाक जैसी स्थितियां जब अधिक व्यापक रूप में हमारे घर परिवार की अवधारणा और पवित्र विवाह संस्था को गहरी हानि पहुचाने लगी हो तो कुंण्डली मिलान के लिए व्यापक कौशल और अधिक गम्भीरता समय की मांग बन जाती है I इस उपक्रम में आप पाएंगे :

* गुणमिलान से पहले : बड़े पांच दोष कैसे देखे ?

* त्रिशांश कुंण्डली, तिथि नक्षत्रादि का विचार, वर या कन्या की नक्षत्र शांति I

* मांगलिक दोष, प्रच्छन (छुपा) कुजादी दोष,अटपटे परिहार I

* कालसर्प योग रहने पर मिलान कैसे ?

* दोषमान्य, पराशरमत: तार्किक सरल विधि, दोष संख्या की व्यवस्था, उदाहरण i

* नाड़ी की महत्ता, सर्वत्र मान्य, दक्षिण भारतीय नाड़ी विचार i

* अष्टकूट मिलान, अष्टकूट से आयु धन सन्तान भाग्य I

Specifications

Product Info
Author Dr SureshChandra Mishr
ISBN 9789381748121
Language Hindi
Pages 160
Weight 170
Size 8.5 x 0.5 x 5.5
Product SKU: KAB0760
₹160.00
₹200.00