Menu
Your Cart

Isha Gyandeep

Dhan Bhav Ki Gatha
-21 %
Brand: Isha Gyandeep Model: KAB0918
DHAN BHAV KI GATHAद्वितीय भाव लग्न से सटा हुआ होता है और यह चतुर्थ भाव की तरह स्थित होता है I  और हम जानते है कि चतुर्थ भाव कि तरफ बढ़ने पर हमे वह विंदु प्राप्त होता है जो पृथ्वी का निम्नतम विंदु होता है I अतः द्वितीय भाव लग्न कि आधार प्रदान करता है, जैसे बारहवा भाव लग्न का क्षरण या व्यय करत..
₹415.00 ₹525.00
lagn Bhav Ki Gatha
-20 %
Brand: Isha Gyandeep Model: KAB0917
लग्न भाव की गाथाजन्म कुण्डली में १२ भाव होते  है i  इन १२ भावो में से प्रथम भाव को लग्न कहा जाता है i इसका निर्धारण बालक के जन्म के समय पूर्वी क्षितिज में उदित होने वाली राशि के आधार पर किया जाता है i सरल शब्दो में इसे इस प्रकार समझा जा  सकता है i यदि पुरे आसमान को ३६० डिग्री का म..
₹180.00 ₹225.00
Sukh Bhav Ki Gatha
-20 %
Brand: Isha Gyandeep Model: KAB0919
सुख भाव की गाथाकुंडली के चौथे घर को भारतीय वैदिक ज्योतिष में मातृ भाव तथा सुख स्थान भी कहा जाता है तथा जैसे की इस घर के नाम से ही पता चलता है, यह घर कुंडली धारक के जीवन में माता की और से मिलने वाले योगदान तथा कुंडली धारक के द्वारा किए जाने वाले सुखो के भोग को दर्शाता है I चौथा घर कुंडली का एक मह..
₹340.00 ₹425.00
Vya Bhav Ki Gatha
-20 %
Brand: Isha Gyandeep Model: KAB0920
व्यय भाव की गाथाभारतीय ज्योतिष में १२वा भाव को पाप व् बुरे फल की श्रेणी में रखा गया है जो कि हानि एवं पतन का मुख्य घर है, परन्तु मेरे विचार से यह भाव नवम से चतुर्थ होने के कारण भाग्य द्वारा प्राप्त सुख, विलासिता, भोग व् ऐश्वर्य का है क्योकि यदि हम अर्थ व्यय करते है तो फलस्वरूप हमें कोई सुख या वि..
₹140.00 ₹175.00
Showing 1 to 4 of 4 (1 Pages)